बोले- वो रामभक्तों पर चलवा रहे थे गोली
सीएम ने चंदौली को दिया 60 करोड़ का तोहफा
चंदौली। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को चंदौली को 60 करोड़ का तोहफा दिया। रामगढ़ में सीएम योगी आदित्यनाथ ने अघोराचार्य बाबा कीनाराम मठ के सौंदर्यीकरण के साथ कायाकल्प समेत 30 करोड़ की 27 परियोजनाओं का बटन दबाकर शिलान्यास किया।
सीएम योगी आदित्यनाथ ने रामगढ़ में कहा कि आज पैसा फिजूलखर्ची में नहीं बल्कि पौराणिक व ऐतिहासिक महत्व के स्थलों के पुनरुद्धार एवं सौंदर्यीकरण पर खर्च हो रहा है। इससे पहले तो लोग रामभक्तों पर गोली चलवाने का काम कर रहे थे। यहां पर बाबा कीनाराम जी के ही आशीर्वाद से यह कार्य आज रामगढ़ में भी प्रारंभ हो गया है। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी राम भक्तों पर गोलियां चला सकती है। राम जन्मभूमि पर आतंकी हमला करने वाले आतंकवादियों की पैरवी करके उनके खिलाफ दायर मुकदमों को वापस लेने का काम कर सकती है, लेकिन विकास का काम इनके बस का नहीं है।
उन्होंने कहा कि भारत के आध्यात्मिक और सांस्कृतिक जीवन में पूज्य संतों व ऋषि-मुनियों का बहुत बड़ा योगदान रहा है। इन पूज्य संतों के आशीर्वाद व उनकी कृपा के कारण ही आज भारत, दुनिया के सामने मानवता के कल्याण का मार्ग प्रशस्त कर रहा है।
सीएम योगी ने कहा कि उत्तर प्रदेश में विकास बहुत पहले हो जाना चाहिए था, बुआ-बबुआ की जोड़ी क्या कर रही थी। इन्होंने केवल अपना विकास किया। इनके लिए इनका परिवार ही पूरा प्रदेश था। हमारे लिए प्रदेश की जनता ही परिवार है। अगर अखिलेश यादव परिवार की परिभाषा समझते तो वो मुझ पर परिवार न होने का आक्षेप नहीं करते।
उन्होंने कहा कि प्रदेश में 33 मेडिकल कालेज, सड़क, पुल, पालीटेक्निक का निर्माण हो रहा है। बुआ-बबुआ, भाई-बहन आखिर पहले क्या कर रहे थे। सपा की सरकार थी तो अखिलेश को सिर्फ अपना परिवार दिखता था। हमारे लिए प्रदेश की 25 करोड़ जनता ही हमारा परिवार है। अखिलेश यादव यह जानते तो मेरे परिवार पर कटाक्ष नहीं करते।
सीएम योगी ने कहा कि प्रदेश की जनता का पैसा आज प्रदेश के विकास पर खर्च हो रहा है। पर्यटन स्थल बढ़ रहे हैं। सरकार पौराणिक स्थलों का विकास कर रही है। जनता का पैसा अब इसमें खर्च हो रहस्य है। पहले यह पैसा माफिया की तिजोरी में जाता था। माफिया ने यदि किसी बहू-बेटी की इज्जत और गरीब की जमीन पर नजर गड़ाई तो सरकार का बुलडोजर उनकी छाती पर खड़ा दिखेगा।
चंदौली में काले चावल के उत्पादन ने नया रिकार्ड बनाया है। उत्तर प्रदेश में तो इससे पहले यहां चावल का उत्पादन ही बंद था तीन वर्ष तक काले चावल का उत्पादन नहीं हुआ था। आज 2100 हेक्टेयर भूमि में 2,400 किसानों ने इसका उत्पादन और निर्यात किया है। यह भारत में चंदौली के लिए एक नई पहचान बन गई है।

No comments:

Post a Comment

Popular Posts