ऑक्सीजन प्रेशर अधिक करने पर कर्मचारी को दी जान से मारने  की धमकी 


मेरठ। कहते है चिकित्सक भगवान का रूप होता है। लेकिन अस्पताल के संचालक ने इस कहावत का झुटला दिया है। अस्पताल संचालक ने मोटी कमाई करने के लिये नियमों को तार-तार कर दिया। डीएम  द्वारा घोषित ५० से अधिक मरीजों को अस्पताल में भर्ती कर लिया।ऑक्सीजन कम मिलने से दर्जनों मरीज काल के गाल में समा गये। यह हम नहीं कह रहे बल्कि वही पर पिछले ११ साल से ऑक्सीजन विभाग में कार्यरत कर्मचारी ने वीडिया वायरल व सीओ ब्रहमपुरी से शिकायत करते हुए लगाये है। 
 पुटठा निवासी देविन्द्र कुमार ने बताया वह पिछले ११ साल से बागपत रोड स्थित केएमसी अस्पताल में ऑक्सीजन विभाग में नौकरी कर रहा है। उसने बताया वीडियों में बताया है । कोविड.19 के लिये मरीजों के उपचार के लिये अस्पताल में 50 बेड निर्धारित किये थे। लेकिन अस्पताल के संचालक डा सुनील गुप्ता ने 193कोविड मरीज भर्ती कर लिये। जिसके कारण मरीज को ऑक्सीजन नहीं मिल पाने के कारण मरीजों की मौतें हो रही थी। उन्होने बताया जब उन्होंने इसकी शिकायत डा सुनील गुप्ता से की तो डा सुनील गुप्ता ने उसके साथ मारपीट करते हुए उसे व उसके परिवार को जान से मारने की धमकी दी गयी। उन्होंने अस्पताल के संचालक पर आरोप लगाते बताया कि अस्पताल संचालक ने ऑक्सीजन प्लांट से 1.30 का प्रेशर खुलवाकर रखवाया था। उसने बताया उसने मरीजों की जान बचाने के लिये ऑक्सीजन का प्रेशर 4.1
कर दिया। जिससे अधिक सिलेन्डर लग रहे थे। इसी बात को लेकर चिकित्सक ने उसके मारपीट करते हुए जाति सूचक शब्द कहे। उसका आरोप है अस्पताल के संचालक ऐसी हरकत अन्य स्टॉफ के साथ कर चुके है। 

No comments:

Post a Comment

Popular Posts